x
Image Credit: shortpedia

यहाँ शुरू किया गया शरीर में प्रदूषण पता लगाने का पहला केंद्र

jyoti ojha

News Editor

दिल्ली के एम्स में पहली बार प्रदूषण को लेकर सेंटर स्थापित किया गया है जिसमें रक्त और यूरिन की जांच के आधार पर ही शरीर में मौजूद पीएम 2.5 और पीएम 10 के सूक्ष्म कणों के प्रभाव का पता लगाया जा सकेगा और इसी आधार पर डॉक्टर मरीजों का इलाज करेंगे।इस सेंटर का नाम इकोटॉक्सिकोलॉजी रखा गया है और यहां पानी और भोजन के अलावा वायु प्रदूषण से शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव इत्यादि पर अध्ययन किया जाएगा।

ShortPedia
Smart Content App Hand picked content everyday