x
Image Credit: shortpedia

भ्रष्टाचार के खिलाफ बोलने के चलते मुझे मारने की दी थी सुपारी- अन्ना हजारे

jyoti ojha

News Editor

अन्ना हजारे ने सीबीआई की एक विशेष अदालत में कहा कि उस्मानाबाद में टेरना चीनी कारखाने में भ्रष्टाचार के खिलाफ बोलने के चलते उनके नाम की सुपारी दी गई थी। हजारे ने बताया- विशेष न्यायाधीश आनंद यावलकर के समक्ष कांग्रेस नेता पवन राजे निंबालकर की हत्या के मुकदमे में अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में उन्हें मीडिया के माध्यम से मौत की धमकी के बारे में चला था जिसकी शिकायत उन्होंने परनेर पुलिस थाने में दर्ज कराई थी|

ShortPedia
Smart Content App Hand picked content everyday