ShortPedia
Shortpedia Mobile App Download Shortpedia News App

Image Credit: Social Media

देश का वो गांव जहां है विधवाओं का बसेरा, आखिर क्या है इसकी कहानी?

सहारनपुर और कुशीनगर समेत कई इलाकों में शराब ने जहां कई परिवारों से उनके लाल छीन लिए। वहीं कई की मांग का सिन्दूर उजाड़ कर आधे गांव को श्मशान में बदल दिया। ईशान नदी के तट पर बसे पुसैना गांव में 300 परिवारों में कुल 4008 लोग रहते हैं। इनमें से करीब 150 परिवारों में 25-65 साल की उम्र के बीच की विधवा महिलाएं रहती हैं जिनके पति पिछले 15 साल में जहरीली शराब पीकर मरे। कई परिवारों के एक से ज्यादा पुरुषों की जान इस अभिशाप ने ली है।

NBT
7000+
Fans
800+
Tweets
400000+
Downloads

side-banner