x
ShortPedia
Smart Content App Hand picked content everyday

Image Credit: Shortpedia

RBI द्वारा केंद्र सरकार से स्वतंत्रता मांगने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लगाया ये गम्भीर आरोप

RBI को बैंकों का भीष्म पितामह कहा जाता है. इसकी बिना मर्जी के किसी भी बैंक में पत्ता भी नही हिलता. लेकिन एनपीए बढ़ने के बाद केंद्र सरकार और आरबीआई एक दूसरे को बढ़े हुए एनपीए का जिम्मेदार ठहराने लगे. जिसके बाद आरबीआई ने केंद्र सरकार से अपनी आजादी की मांग करनी शुरू कर दी. इसी बीच अरुण जेटली ने कहा कि आरबीआई ने कांग्रेस सरकार के समय लोन बांटे जिसकी वजह से देश की ये दुर्दशा है और अब RBI हम से भी अलग हो गया तो अर्थव्यवस्था का अंजाम अच्छा नही होगा