x
Image Credit: Instagram@sachintendulkar

मास्टर ब्लास्टर बोले- पुरुषों का रोना सामान्य; आंसू दिखाने में कैसी शर्म?

Kapil Chauhan

News Editor

पुरुषों का रोना कमजोरी की निशानी समझा जाता है इसे लेकर सचिन तेंदुलकर ने पोस्ट किया 'आंसू दिखाने में कोई शर्म नहीं है'। सचिन चाहते हैं कि ऐसी मान्यता समाप्त होनी चाहिए। अंतरराष्ट्रीय पुरुष सप्ताह के दौरान सचिन ने एक ओपन लैटर में कहा कि जब चीजें ठीक ना हों तो पुरुषों को मजबूती का दिखावा नहीं करना चाहिए। तो उसे क्यों छुपाना जो सचमुच में आपको मजबूत बनाता है?

ShortPedia
Smart Content App Hand picked content everyday