x
side-banner

Image Credit: Shortpedia

अपना संकल्प पूरा कर 20 साल बाद कैलाश विजयवर्गीय ने ग्रहण किया अन्न

Gaurav Kumar

News Editor

सन 2000 में इंदौर का महापौर बनने के बाद शहर के विकास के में बाधा बने पितृ-दोष से छुटकारा पाने के लिए कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर के पितृ पर्वत पर भगवान श्री हनुमान जी की प्रतिमा स्‍थापित होने तक अन्न का त्याग किया था।अब 20 साल बाद इस मूर्ति की स्थापना होने के बाद उन्होंने अन्न ग्रहण किया। 15 करोड़ की लागत से बनी यह मूर्ति 72 फीट ऊंची, 108 टन वजनी है।

ShortPedia
Smart Content App Hand picked content everyday